Uncategorized

चेम्बूर:-, समन संस्कृति संकाय व अभातेयुप के तत्वाधान में तेयूप व चेंबूर केंद्र व्यवस्थापक के निर्देशन मे जैन विद्या कार्यशाला का आयोजन चेंबूर सभा भवन में किया गया। नमस्कार महामंत्रोचार व मंगलाचरण के द्वारा कार्यशाला का शुभारंभ किया गया। केंद्र व्यवस्थापक श्रीमान सुशील हिरण ने कार्यशाला में समागत सभी अतिथियों का स्वागत किया। इस कार्यशाला में स्पीच व संगीत प्रतियोगिता रखी गई स्पीच का शीर्षक जैन विद्या जरूरी क्यों ज्ञान चेतना वर्ष पर संगीत प्रतियोगिता रखी गई। 24 बहनों ने भाग लिया। प्रथम द्वितीय तृतीय आने वालो का सम्मान किया गया। प्रेमलता सिसोदिया और मीना साभद्रा ने जज की भूमिका निभाई। जैन विद्या के राष्ट्रीय सह संयोजिका श्रीमती प्रेमलता सिसोदिया, महाराष्ट्र प्रभारी विमला डागलिया, हर्बल लाइन के आंचलिक संयोजिका अनीता सियाल, सेंट्रल लाइन संयोजिका ममता सिंघवी, प्रेक्षा प्रशिक्षका श्रीमती मीना साबदरा, चेंबूर महिला मंडल की संयोजिका वनीता बाफना, सह संयोजिका लीना सिंघवी, कल्पना परमार, जीतमल जॉन की संयोजिका वनीता हिरण, काजू पाड़ा केंद्र व्यवस्थापिका मोनिका जैन, मानखुर्द केंद्र व्यवस्थापक यशवंत जैन, तेयूप चेंबूर के उपाध्यक्ष मुकेश मांडोत की गरिमामय उपस्थिति रही। प्रेमलता जैन, विमला जैन, अनीता जैन, व ममता जैन ने अपने व्यक्तित्व में जैन विद्या से जुड़ने के लिए सभी को प्रोत्साहित किया। गत वर्ष जैन विद्या कार्यशाला में मेरिट मे आने पर भावना पटवारी व वनीता बाफना को और जैन विद्या परीक्षा में भाग 2 में बेला डांगी को मेरिट में आने पर सम्मान किया गया। कार्यशाला को सफल बनाने में महिला मंडल की टीम का सहयोग रहा। वनीता चंडालिया, किरण चंडालिया वनीता हिरण का विशेष सहयोग रहा। सह केंद्र व्यवस्थापिका ममता कच्छारा ने सभी का आभार ज्ञापन किया। इस कार्यक्रम की जानकारी श्री सुशील हिरण ने दी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close