PoliticsSocialUncategorized

बहुजन विकास अघाड़ी ने चुनाव से पूर्व नामांकन पत्र भरने जाने के समय ही बड़ा शक्ति प्रदर्शन करते हुए तीस साल से वसई पे राज करने की अपनी लोकप्रियता का नमूना किया पेश 

बहुजन विकास अघाड़ी ने चुनाव से पूर्व नामांकन पत्र भरने जाने के समय ही बड़ा शक्ति प्रदर्शन करते हुए तीस साल से वसई पे राज करने की अपनी लोकप्रियता का नमूना किया पेश 

यूसुफ अली

पालघर, पालघर जिले के वसई विरार क्षेत्र में पिछले 30 सालों से सत्ता पे काबिज बहुजन विकास अघाड़ी ने अपने दोनों उम्मीदवारो के नामांकन के समय बड़ा शक्ति प्रदर्शन करते हुए 30 साल से सत्ता का राज खोल कर रख दिया और सभी को बहुजन  विकास अघाड़ी की लोकप्रियता का अहसास भी करवाया 1 अक्टुबर को वसई से नामांकन पत्र दाखिल करने जाते हुए वसई विरार के लोकप्रिय नेता के तौर पर जाने जाए वाले बहुजन विकास अघाड़ी प्रमुख हितेन्द्र ठाकुर ने चिमाजी अप्पाजी मैदान से एक खुली कार में हजारों की भीड़ को साथ में लेते हुए पारनाका झेंडा बाजार से होते हुए वसई प्रान्त अधिकारी कार्यालय का रुख किया जहां पार्टी के प्रमुख नेताओं और वसई विरार मनपा के वर्तमान और सभी पूर्व महापौर के साथ सभी नगर सेवको की उपस्तिथि में अपना नामांकन पत्र भरा तकनीकी रूप से नामांकन पत्र में कोई त्रुटि के चलते नामांकन खारिज होने की सूरत में दूसरे प्रत्याशी को उतारा जा सके इस बात के मद्देनजर पार्टी के दो और नेता क्षितिज ठाकुर और प्रवीणा हितेन्द्र ठाकुर से डमी प्रत्याशी के तौर पर नामांकन भरवाया। हितेन्द्र ठाकुर के नामांकन में वसई में मानो जनसैलाब उमड़ पड़ा नामांकन पत्र भरे जाने की प्रक्रिया के पश्चात पत्रकारों से बातचीत में अपनी पार्टी की निश्चित जीत का दावा किया। वही पत्रकारों के विभिन्न सवालों का तीखा जवाब दिया भाजपा शिवसेना गठबंधन पर दबाव की राजनीति करने और चुनाव नजदीक आते ही गुंडागर्दी जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हुए घटिया राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव जाने के बाद कोई पलटकर वसई विरार की बात नही करता इसके साथ ही हितेन्द्र ठाकुर ने खुद की पार्टी बहुजन विकास अघाड़ी को विकास के लिये समर्पित पार्टी घोषित किया।      दूसरी और 3 तारीख को बहुजन विकास अघाड़ी ने नालासोपारा से अपने उम्मीदवार का नामांकन पत्र पेश किया जिसमें भी नालासोपारा के पश्चिम में स्थित पार्टी के कार्यालय से सैलाब रूपी अपार जनसमूह में खुली जीप में निर्वाचन अधिकारी कार्यालय जाकर नामांकन अर्जी दाखिल किया नालासोपारा में भी वसई की ही तर्ज पर तीनों नेताओ के नामांकन पत्र भरवाए गए  बहुजन विकास अघाड़ी का कौन प्रत्याशी कहा से चुनाव लड़ेगा इसका अंतिम निर्णय 7 तारीख को नामांकन पत्र वापसी के समय तय किया जाएगा नालासोपारा में भी जनसमूह देख कर विरोधि पार्टी के पसीने छुटते दिखाई दिए।
     इस चुनाव में बहुजन विकास अघाड़ी को अपना पुराना चुनाव चिन्ह सिटी दुबारा हांसिल किये जाने की खुशी हर कार्यकर्ता के चेहरे पे साफ झलकती दिखी पार्टी के प्रमुख नेताओं में पूर्व तथा वर्तमान मनपा महापौर ने अपनी पार्टी की सुनिश्चित जीत का दावा किया और अपने नेता को विकास पुरुष की संज्ञा दी। हालांकि वसई वीरार मनपा अंतर्गत क्या ? विकास कार्य हुआ यह अपने आप मे बड़ा सवाल अभी भी ज्यूँ का त्यों है, अगर तीस साल से वसई विकास की राह पर दौड़ रहा है तो पिछले तीन सालों से लगातार वसई विरार क्षेत्र डूब क्यों जाता है? इसका जवाब हमेशा एक ही मिलता है अतिवृष्टि हा यह सभी जानते है कि यह सही है कि अतिवृष्टि इन सालों में हुई है लेकिन नालासोपारा का आचोले हो या सेंट्रल पार्क का क्षेत्र सिर्फ 1 घण्टे की बारिश में सड़क समंदर बन जाती है उसका क्या? डेंगू और मलेरिया की रोकथाम हेतु दवा के छिड़काव में कमी के चलते बढ़ती बीमारी का जिम्मेदार कौन? वसई विरार मनपा क्षेत्र का कचरे के ढेर में बदला जाना किसकी नाकामी?  अवैध बांधकाम के चलते कंक्रीट के बढ़ते  जंगल का जवाबदार कौन? पानी जैसी मूलभूत सुविधा हेतु क्षेत्रवासियों द्वारा अत्यधिक खर्च किये जाने जिम्मा किसका?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close