Social

“बाबा जैद बंगाली” पोस्टर मामला ; बाबाओ का ट्रेनों में अवैध पोस्टर चिपकाने वाला गिरफ्तार

*“बाबा जैद बंगाली” पोस्टर मामला ;*

बाबाओ का ट्रेनों में अवैध पोस्टर चिपकाने वाला गिरफ्तार

संजय जैन/प्रवासी एकता

विरार ; देखा जाता है कि रेलवे स्टेशन व ट्रेनो पर अक्सर विभिन्न कंपनियों के अवैध पोस्टर चिपकाते हुए पोस्टर माफियाओ दिखाई देते है,लेकिन कंपनियों के पोस्टर से हट कर ट्रेनों व स्टेशन पर पोस्टर माफिया बाबाओ का अवैध पोस्टर लगाकर रेलयात्रियों को अपने झासे में लेकर उनसे रुपये लूटने का कारोबार करते दिखाई देते है,दरअसल विरार आरपीएफ़ ने बाबाओं का ट्रेनों में अवैध पोस्टर लगाते हुए रंगे हाथों 1 पोस्टर माफियाओ को गिरफ्तार किया,जोकि भूल रूप से मेरठ का रहने वाला है.ज्ञात हो कि नवम्बर 2018 में विरार आरपीएफ तत्कालीन इंचार्ज जी.एन.मल्ल के नेत्तृव में 3 शातिर पोस्टर माफियाओ को गिरफ्तार किया था,जिसका लिंक उत्तर प्रदेश,मेरठ से जुटा था,क्योकि 3 आरोपी मेरठ के रहने वाले थे.जानकारी के अनुसार लम्बे समय से पश्चिम रेलवे व सेंट्रल रेलवे के ट्रेनों में बाबाओ का अवैध पोस्टर लगाने की खबर सामने आ रही थी। बाबाओ के पोस्टर पर बकायदा मोबाईल नंबर के साथ – साथ पोस्टर में (लव मैरिज,मनचाहा प्यार,गृहकलेश,जादू टोना, कारोबार में रुकावट,शादी में अड़चन,पति-पत्नी में अनबन और विदेश यात्रा में रुकावट ) आदि शब्दो पर प्रयोग कर पोस्टर को ट्रेनों में अपने पोस्टर गैंग के गुर्गों द्वारा इसे चिपकाते है। 8 सितम्बर को 1.30 बजे सीपीडीएस टीम में ड्यूटी पर तैनात कांस्टेबल प्रकाश नौटियाल और आशीष कुमार ने मोहमद वसीम फैज मोहमद (21),निवासी – फुटपाथ, बस डिपो, नलासोपारा को विरार प्लेटफार्म 03 पर पकड़ा,जो अवैध रूप से लोकल ट्रेन के लेडिस कोच में “बाबा जैद बंगाली” (बाबा जैद बंगाली ) के पोस्टर चिपका रहा था.उक्त पकड़े गये व्यक्ति के बारे में उपनिरीक्षक निर्मल सिंह को सूचना दिया.उप निरीक्षक निर्मल सिंह ने मौके पर पंहुच कर उक्त व्यक्ति को अनधिकृत रूप से रेल परिसर में प्रवेश कर महिला कोच में प्रवेश कर पोस्टर चिपकाकर गन्दगी करने पर आवश्यक पंचनामा किया. जिसके बाद आरोपी के ऊपर यु/एस 162,145 (बी), 147 और 166 रेलवे एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया.उचित जमानत पेश न करने पर उसे 6;20 बजे गिरफ्तार कर आगे की तहकीकात में जुटी है. गौरतलब है कि नालासोपारा और विरार आरपीएफ ने वर्ष 2018 में 44 केस दर्ज किए,जबकि 55 हजार 900 रुपए जुर्माना वसूला था. इस वर्ष 1 जनवरी से लेकर 31 अगस्त 2019 तक 24 केस तथा दंड के ररूप में 9500 रुपए जुर्माना की राशि वसूली है.आरपीएफ इंचार्ज प्रवीण कुमार ने बताया कि अवैध पोस्टरों के खिलाफ हमारी मुहीम लगातार जारी है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close