Social

प्रख्यात कृष्णधाम श्री सांवलियाजी मंदिर के हरियाली अमावस्या का मेला चतुर्दशी के अवसर पर भण्डार खोले गए

जयदीप चौबीसा/प्रवासी एकता

कपासन:-प्रख्यात कृष्णधाम श्री सांवलियाजी के हरियाली अमावस्या का मेला चतुर्दशी के अवसर पर भण्डार खुलते ही आरम्भ हो गया है। चतुर्दशी के अवसर पर खोले गए भण्डार से राशि निकली है। हरियाली अमावस्या पर आने वाले साँवलिया जी का भण्डार बुधवार को सुुुबह ओसरा पुजारी इन्द्रदास तुलसीदास द्वारा भगवान को मनमोहक श्रंगार धराया गया राजभोगआरती के बाद मंदिर सीईओ मुकेश कलाल, चैयरमेन कन्हैयादास वैष्णव, सदस्य मदन व्यास, भैरूलाल सोनी, भैरूलाल गाडरी, भैरूलाल जाट, लेखाकार सतीश कुमार, प्रशासनिक अधिकारी कैलाशचंद्र दाधीच, गौशाला प्रभारी कालूलाल तेली, नंदकिशोर टेलर, मदनलाल तिवारी सहीत मंदिर व बैंक कर्मचारीयों व कस्बेवासीयों तथा श्रद्धालुओं की उपस्थिती में खोला गया। शाम तक गणना जारी रही प्रभु श्री साँवरिया सेठ के भण्डार गणना से प्राप्त राशी 3 करोड़ 55 लाख 97 हजार रुपये मात्र निकले एवं भेंट कक्ष से प्राप्त राशी 24 लाख 83 हजार 759रुपये भेट कक्ष से सोना 01 ग्राम 400 मिली ग्राम व चांदी 3 किलो 486 ग्राम 400मिली ग्राम प्राप्त हुऐ शेष भण्डार की गणना बाकी है। इस अवसर पर भण्डार से नोटो के अलावा स्वर्ण व रजत भी प्राप्त हुए है।

इसके अलावा भेंट कक्ष से राशि व स्वर्ण व रजत आभूषण प्राप्त हुए है। इधर भगवान का हरियाली अमावस्या का मेला भी आरम्भ हो गया है। बुधवार को श्रद्धालुओं के पैदल जत्थे डीजे के साथ नाचते-गाते पहुंचे है। वहीं हरियाली अमावस्या के अवसर पर भी श्रद्धालुओं की भारी भीड पहुंचने की संभावनाऐं है। इधर मंदिर प्रशासन ने भी श्रद्धालुओं की भारी भीड आने की संभावना को देखते हुए व्यवस्था के लिए व्यापक प्रबंध किए है। प्रशासनिक अधिकारी कैलाशचंद्र दाधीच ने बताया कि मंदिर मण्डल की ओर से श्रद्धालुओं को आसानी से दर्शन के लिए मंदिर के अन्दर तीन क्रम में दर्शनो की व्यवस्था की है। इसमें प्रथम क्रम में मुख्य मंदिर के भण्डार, द्वितीय क्रम में दुसरे भण्डार के पास तथा तृतीय क्रम में मुख्य मंदिर के चैक में पाटीये की उंचाई बढा कर दर्शन की व्यवस्था की है। वहीं पेयजल के लिए टेंकरो के अलावा जगह-जगह आरो वाटर की व्यवस्था की है। वहीं पार्किंग के लिए मण्डफिया को जोडने वाले सभी मार्गो पर कस्बे के बाहर ही व्यवस्था की है।

सुरक्षा के लिए मंदिर मण्डल की ओर से 201 निजी गार्ड लगाए गए है, जबकी 89 पुलिस कांस्टेबल व होमगार्ड व मंदिर कर्मचारी हरियाली अमावस्या के अवसर पर रात्रि में कनकलता पारासर एण्ड पार्टी द्वारा विशाल भजन संध्या का आयोजन भी होगा।
51 फिट ध्वजा चढाईः श्री सांवलियाजी मंदिर में पैदल यात्रीयों के जत्थे विभीन्न मार्गो से मंदिर में पहुंच रहे है। यह श्रद्धालु अपने साथ सजे-धजे रथ लेकर आते है, जिसमें भगवान सांवलिया सेठ की झांकी भी सजा कर लाते है। बुधवार को राजाजी का करेडा गोपालपुरा भीलवाडा से आए श्रद्धालुओं ने पैदल पहुंच कर 51 फिट की ध्वजा मंदिर में चढाई।
उदयपुर। कृष्णधाम श्री सांवलियाजी के हरियाली अमावस्या का मेला चतुर्दशी के अवसर पर भण्डार खुलते ही आरम्भ हो गया है। चतुर्दशी के अवसर पर खोले गए भण्डार से राशि निकली है। हरियाली अमावस्या पर आने वाले साँवलिया जी का भण्डार बुधवार को सुुुबह ओसरा पुजारी इन्द्रदास तुलसीदास द्वारा भगवान को मनमोहक श्रंगार धराया गया राजभोगआरती के बाद मंदिर सीईओ मुकेश कलाल, चैयरमेन कन्हैयादास वैष्णव, सदस्य मदन व्यास, भैरूलाल सोनी, भैरूलाल गाडरी, भैरूलाल जाट, लेखाकार सतीश कुमार, प्रशासनिक अधिकारी कैलाशचंद्र दाधीच, गौशाला प्रभारी कालूलाल तेली, नंदकिशोर टेलर, मदनलाल तिवारी सहीत मंदिर व बैंक कर्मचारीयों व कस्बेवासीयों तथा श्रद्धालुओं की उपस्थिती में खोला गया। शाम तक गणना जारी रही सांवलिया जी मंदिर के भंडार से 3 करोड़ 55 लाख 96 1000 की राशि निकली है जबकि शेष नोटों की गिनती बाद में की जाएगी वहीं गत वर्ष इसी अमावस्या को 3 करोड़ 26 लाख रुपए की राशि निकली थी । इसके अलावा मंदिर भंडार से 51 ग्राम सोने व 3280 चांदी के आभूषण व मंदिर मंडल कार्यालय में पिछले एक माह में भेंट स्वरूप 24 लाख 83 हजार 559 रुपए के अलावा एक ग्राम 400 मिलीग्राम सोने तथा 3486 ग्राम 400 मिलीग्राम चांदी के आभूषण प्राप्त हुए हैं। भंडार से डॉलर व दिरम भी निकले हैं।

इस अवसर पर भण्डार से नोटो के अलावा स्वर्ण व रजत भी प्राप्त हुए है। इसके अलावा भेंट कक्ष से राशि व स्वर्ण व रजत आभूषण प्राप्त हुए है। इधर भगवान का हरियाली अमावस्या का मेला भी आरम्भ हो गया है। बुधवार को श्रद्धालुओं के पैदल जत्थे डीजे के साथ नाचते-गाते पहुंचे है। वहीं हरियाली अमावस्या के अवसर पर भी श्रद्धालुओं की भारी भीड पहुंचने की संभावनाऐं है। इधर मंदिर प्रशासन ने भी श्रद्धालुओं की भारी भीड आने की संभावना को देखते हुए व्यवस्था के लिए व्यापक प्रबंध किए है। प्रशासनिक अधिकारी कैलाशचंद्र दाधीच ने बताया कि मंदिर मण्डल की ओर से श्रद्धालुओं को आसानी से दर्शन के लिए मंदिर के अन्दर तीन क्रम में दर्शनो की व्यवस्था की है। इसमें प्रथम क्रम में मुख्य मंदिर के भण्डार, द्वितीय क्रम में दुसरे भण्डार के पास तथा तृतीय क्रम में मुख्य मंदिर के चैक में पाटीये की उंचाई बढा कर दर्शन की व्यवस्था की है। वहीं पेयजल के लिए टेंकरो के अलावा जगह-जगह आरो वाटर की व्यवस्था की है। वहीं पार्किंग के लिए मण्डफिया को जोडने वाले सभी मार्गो पर कस्बे के बाहर ही व्यवस्था की है। सुरक्षा के लिए मंदिर मण्डल की ओर से 201 निजी गार्ड लगाए गए है, जबकी 89 पुलिस कांस्टेबल व होमगार्ड व मंदिर कर्मचारी हरियाली अमावस्या के अवसर पर रात्रि में कनकलता पारासर एण्ड पार्टी द्वारा विशाल भजन संध्या का आयोजन भी होगा।
51 फिट ध्वजा चढाईः श्री सांवलियाजी मंदिर में पैदल यात्रीयों के जत्थे विभीन्न मार्गो से मंदिर में पहुंच रहे है। यह श्रद्धालु अपने साथ सजे-धजे रथ लेकर आते है, जिसमें भगवान सांवलिया सेठ की झांकी भी सजा कर लाते है। बुधवार को राजाजी का करेडा गोपालपुरा भीलवाडा से आए श्रद्धालुओं ने पैदल पहुंच कर 51 फिट की ध्वजा मंदिर में चढाई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close