Politics

वसई से बहुजन विकास अघाड़ी के 4 बार के विधायक हितेंद्र ठाकुर (अप्पा) ने भरा विधानसभा चुनाव का नामांकन पत्र हितेंद्र ठाकुर के साथ ही प्रवीणा ठाकुर और क्षितिज ठाकुर से भी भरवाए गए डमी नामांकन

वसई से बहुजन विकास अघाड़ी के 4 बार के विधायक हितेंद्र ठाकुर (अप्पा) ने भरा विधानसभा चुनाव का नामांकन पत्र

हितेंद्र ठाकुर के साथ ही प्रवीणा ठाकुर और क्षितिज ठाकुर से भी भरवाए गए डमी नामांकन

यूसुफ अली/प्रवासी एकता

वसई, वसई से 4 बार विधान सभा चुनाव जीत चुके बहुजन विकास अघाड़ी प्रमुख हितेंद्र ठाकुर (अप्पा) ने पांचवी बार फिर भरा चुनाव नामंकन पत्र दिनाक 1 ऑक्टोबर दोपहर 1 बजे हितेंद्र ठाकुर वसई के चिमाजी अप्पाजी मैदान पहुंचे जहा पहले से सेकड़ो कार्यकर्ताओ का जमावड़ा पहले ही लग चुका था।

हितेंद्र ठाकुर के चिमाजी अप्पाजी मैदान में पहुँचते ही कार्यकर्ताओ ने न सिर्फ गर्म जोशी से स्वागत किया बल्कि जयकारा तक लगाया फिर कुछ महिलाओं द्वारा अप्पा की आरती किये जाने के बाद अप्पा एक खुली कार में सवार हुए और अप्पा के साथ ही सेकड़ो पदधिकारियो,कार्यकर्ताओ का काफिला जिसे अपार जनसमूह भी कहा जाए तो अतिशयोक्ति नही होगी अप्पा की कार के साथ रैली के रूप में बढ़ने लगा यह रैली चिमाजी अप्पाजी मैदान से शुरू होकर वसई बस डिपो होती हुई पारनाका की तरफ से बढ़ती हुई वसई के जेण्डा बाजार होती हुई वसई प्रान्त अधिकारी कार्यलय पर जाकर खत्म हुई जहां से हितेंद्र ठाकुर ने अपने कुछ मुख्य पदाधिकारियों के साथ प्रान्त कार्यालय में प्रवेश करते हुए प्रान्त अधिकारी के साथ ही वसई तहसीलदार की उपस्तिथि में नामांकन पत्र भरते हुए अपनी विधानसभा चुनावी उम्मीदवारी पर मोहर लगाई।हितेंद्र ठाकुर के साथ ही बहुजन विकास अघाड़ी ने दो और डमी नामांकन पत्र पेश किए जिसमे से एक क्षितिज ठाकुर के नाम से भरा गया तो दूसरा प्रवीणा हितेंद्र ठाकुर के नाम से भरा डमी नामांकन पत्र भरने के पीछे का राज यह है कि यदि किसी तकनिकी कारण से एक प्रत्याशी का नामांकन रद्द कर दिया जाता है तो ऐसे में दूसरे प्रत्याशी को पार्टी अपना उम्मीदवार घोषित कर सकती है।
इस नामंकन पत्र भरने जाने वाली रैली में शामिल सभी बड़े छोटे पदाधिकारी कार्यकर्ताओ ने बहुजन विकास अघाड़ी की जीत की पूरी आशा व्यक्त की।
ज्ञात हो वसई विधान सभा से 1995, 1999, 2004, 2014 इन चार बार के चुनाव में हितेंद्र ठाकुर ने जीत हांसिल की थी। जिसमे दो बार विवेक पंडित को तो दो बार दीपक गंवाकर को हराया था वही 2009 में विवेक पंडित ने वसई से जीत हांसिल की थी तब उनके सामने हितेंद्र ठाकुर न होकर नारायण मानकर उतरे थे चुनाव में ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close