Politics

प्रदीप शर्मा ने नालासोपारा तो विजय पाटिल ने वसई से नामांकन पत्र भरते हुए शिवसेना भाजपा महायुति की ताकत का किया प्रदर्शन

प्रदीप शर्मा ने नालासोपारा तो विजय पाटिल ने वसई से नामांकन पत्र भरते हुए शिवसेना भाजपा महायुति की ताकत का किया प्रदर्शन

संजय जैन

पालघर,:- पालघर जिले के नालासोपारा और वसई विधानसभा से क्रमशः प्रदीप शर्मा एवं विजय पाटिल ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 के लिए चुनावी मैदान में उतरने नामांकन पत्र दाखिल करते हुए उम्मीदवारी पर मोहर लगाई। प्रदीप शर्मा के 3 तारीख को नामांकन पत्र भरने से पहले नालासोपारा में शिवसैनिकों अपनी ताकत का बखूबी मुजायरा किया प्रदीप शर्मा नालासोपारा के सेंट्रल पार्क स्तिथ पार्टी कार्यालय से एक रैली के रूप में पार्टी द्वारा तैयार किये गए चुनावी रथ पर सवार होकर निकले जिसमे रथ पर पार्टी के महाराष्ट्र लेवल के वरिष्ठ पदाधिकारी एवं वसई, नालासोपारा, विरार के समस्त शिवसेना के साथ ही भाजपा, आर पी आई, गठबन्धन में सहयोगी सभी पार्टियों के पदाधिकारी भी मौजूद थे रैली में मुख्य आकर्षण के तौर पर भाजपा के नालासोपारा नेता और इस विधानसभा चुनाव के इच्छुक उम्मीदवार ही नही बल्कि पार्टी आला कमान द्वारा शिवसेना को सीट दिए जाने से नाराज चल रहे राजन नाइक दिखे।
हालांकि राजन नाइक के चेहरे पे वह खुशी नही दिखाई दी जो कि दिखनी चाहिए थी वही राजन नाइक के मुख्य शुभचिंतक और नालासोपारा भाजपा महसचिव मनोज बारोट और नालासोपारा के एक ओर इच्छुक उम्मीदवार संजय पांडेय तो रैली में शामिल ही नही हुए वही दूसरे बड़े नेताओं की बात करे तो पालघर जिले के सम्पर्क प्रमुख रविन्द्र फाटक, शिवसेना के नए पुराने जिलाध्यक्ष गटनेता के अलावा सेकड़ो बल्कि हजारो की तादाद में कार्यकर्ता शामिल हुए। सेंट्रल पार्क से चला काफिला शहर के प्रमुख क्षेत्रो से होता हुआ नालासोपारा पूर्व से पश्चिम को जोड़ने वाले मुख्य सड़क मार्ग से उड़ान पूल की तरफ बढ़ता हुआ नालासोपारा पश्चिम में निर्वाचन कार्यालय गया जहाँ प्रदीप शर्मा ने सभी प्रमुख नेताओं की उपस्तिथि में अपना नामांकन पत्र भरा। काफिले के गन्तव्य तक पहुंचने के दौरान उडानपुल पर ट्रैफिक जाम से आमजन को भारी दिक्कते उठानी पड़ी। नामांकन पत्र भरने के बाद प्रदीप शर्मा ने अपने ही अंदाज में पत्रकारों के सवाल के जवाब भी दिए और विपक्षी नेताओं को चेताया। चुनावी मुद्दों के सवाल में पहले के ही जवाब को फिर दोहराते हुए गुंडागर्दी खत्म करने, क्षेत्र में विकास करवाने की बात कही नाराज भाजपाईयो द्वारा भितरघात कर सकने के सवाल के जवाब में कहा कि मुझे शिवसेना ने अपना प्रत्याशी नही बनाया बल्कि महायुति ने प्रत्याशी बनाया है और चुनाव में महायुति में शामिल सभी पक्ष के लोग मुझे सहयोग करेंगे और मेरी जीत की राह आसान होगी।
वही बात करे विजय पाटिल के नामांकन भरे जाने की तो विजय पाटिल ने 4 तारीख को वसई से नामाकन पत्र दाखिल किया नामांकन पत्र भरने जाने के लिए विजय पाटिल का काफिला वसई चिमाजी अप्पाजी मैदान से शुरू हुआ जो पारनाका, झेंडा बाजार होता हुआ वसई प्रान्त अधिकारी कार्यालय पहुंचा वहां गठबन्धन में शामिल सभी पार्टियों के प्रमुख पदाधिकारी तो थे ही कार्यकर्ता भी सेकड़ो की तादाद में ढोल ताशों पर नाचते थिरकते हाजिर हुए विजय पाटिल ने भी नामांकन पत्र भरने जाने पार्टी द्वारा तैयार किये गए विशेष रथ की सवारी की। विजय पाटिल की नामांकन रैली में आगरी कोली समाज का पारम्परिक नृत्य आकर्षण का केंद्र रहा। विजय पाटिल ने भी नामांकन के पश्चात पत्रकारों के सवालों का बेबाकी से जवाब दिया। वसई में 30 साल से अटके पड़े विकास में अनेको मुद्दों पर विपक्षी पार्टी बहुजन विकास अघाड़ी को जमकर घेरा। वही पत्रकार के सवाल की विरोधियों द्वारा आरोप लगाया गया है कि विजय पाटिल चुनाव में पानी की तरह पैसा बहा रहे हैं पे आपकी क्या प्रतिक्रिया है? का जवाब देते हुए कहा कि हमारा परिवार पहले से ही दान पुण्य में हमेशा आगे रहा है विजय पाटिल ने यह जवाब देकर मीडिया के सामने सफाई तो जरूर दे दी मगर विश्वस्त सूत्रों की माने तो कई लोगो का ऐसा कहना है कि चुनाव में वोट हांसिल किये जा सके इस लिए विजय पाटिल हाल ही सम्पन्न हुए त्योहारों में काफी पैसा विभिन्न मंडलो में बांट चुके हैं कुछ लोगो मे तो यह भी चर्चा है कि पिछले महीने गणपति में और वर्तमान में जारी नवरात्रि में विजय पाटिल ने एक एक मंडलो को 50 हजार से अधिक की धनराशि तक दी है। लोगो के इन दावों की सच्चाई तो विजय पाटिल ही बता सकते है लेकिन इतना जरूर है कि गणपति में वसई के हर बड़े छोटे गणपति मंडल में विजय पाटिल के चित्र वाले बड़े बड़े बेनर लगे थे जिनपे बकायदा भावी विधायक तक लिखा हुआ था

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close